Tuesday

नोटपेड के जादुई ट्रिक्स ......

नोटपेड हाँ हाँ नोटपेड....विन्डोज़ का टेक्स्ट एडिटर.| आईये यहाँ नोटपेड के कुछ ऐसे जादुई ट्रिक जानते है ,जिन्हें जानकार आप कहेंगे, "वाह" | तो देर किस बात की हो जाए शुरू |
आबारा का डाबरा ...आबारा का डाबरा

ट्रिक-१
सबसे पहले आप नोटपेड खोलिए...और उसमे this app can break लाइन लिखकर सेव कर दीजिये | अब ज़रा फाइल को खोलना | डरो मत,इससे कु नुकसान नहीं होगा | क्या ? क्या ? उसमे जो लिखा था कहाँ चला गया ?
कुछ समझ में नहीं आ रहा क्या?
अब आप कहेंगे कि अजी इस this app can break लाइन में ही कुछ है, तो आप अपने मन की कोई चार शब्द की लाइन लिख लीजिये,जिसमे पहले शब्द के अक्षरों की संख्या चार, बाकी के दो शब्दों में तीन-तीन अक्षर तथा अंतिम शब्द में पांच अक्षर ....फिर वही सब कर के देखिये.....क्या हुआ???
हाँ लाइन लिखकर इंटर नहीं प्रेस नहीं करना है |

ट्रिक-२ :

अमेरिका के वर्ल्ड ट्रेड सेण्टर पर जिस विमान से हमला किया गया था, उसका नाम क्या था ? क्या ये आपको ओता है ? नहीं? तो हम बताये देते है .....विमान का नाम था Q33N . अब आप कहेंगे कि बात नोटपेड की चल रही थी ,ये वर्ल्ड ट्रेड सेण्टर कहाँ से आ गया ?
बताते है ....आप नोटपेड खोलिए ...औ उसमे विमान का नाम यानि Q33N लिखिए और उसका फॉण्ट साइज़ 72 कर दीजिये ....फिर फॉण्ट में Wingdings कर दीजिये | अब देखिये तो ज़रा ...क्या हुआ ? जो सामने दिख रहा है क्या उसका अमेरिका के वर्ल्ड ट्रेड सेण्टर पर हमले से कोई सम्बन्ध दिख रहा है ?


ट्रिक-३

क्या आप भी मेरे तरह आलसी है,मैं नोटपेड को डायरी की तरह कभी कभी यूज कर लेता हूँ ,पर उस दिनांक तथा समय डालना भूल जाता हूँ ,अब ऐसी समस्या आपके सामने आये तो लिखने के बाद पहले लाइन के सबसे आगे .LOG जोड़ दे ,बचा हुआ सारा काम नोटपेड कर देगा | हाँ फाइल को सेव तो आपको ही करना होगा |

अब इतना सारा हुआ तो इसके पीछे कुछ कारण भी होगा, उसे मैं आगे पोस्ट में लाने की कोशिश करूँगा |

7 comments:

Post a Comment