Friday

और इसी के साथ सैकडा पूरा ..[१०० फोलोवर]

चलो हमारा भी सैकडा (पूरा हो गया | भाई कुछ करो, ये चीज है ऐसी ..पहले तो ज्यादा ध्यान नहीं दिया पर ..जब पारी 90 से पार हुई तो लगा की क्यों नहीं हम भी शतकवीर बन सकते है |

आपके प्यार, स्नेह से ये हुआ है, अभी यहीं रुकने का मन कतई नहीं है | पर छोटा सा ब्रेक ना चाहते हुए भी लेना होगा |

लेकिन इस बीच पर TechTouch पर पोस्टें तो आती ही रहेगी, जैसा की कुछ दिन पहले मैंने आप लोगों के सामने प्रस्ताव रखा था कि इस समयावधि में आप “मेहमान लेखक” के रूप में अपना योगदान दे सकते है |

काफी लोग जुड भी गए | सभी का हार्दिक धन्यवाद |

हाँ अब देखते है, 101वां कौन बनता है ?

9 comments:

Post a Comment