Friday

माइक्रोसॉफ्ट कर रहा एक नए वेब-ब्राउजर पर काम ...

जैसा कि पता है गूगल और माइक्रोसॉफ्ट एक दूसरे के कड़े प्रतिस्पर्धी होते जा रहे है गूगल ने अपना ब्राउजर "क्रोम" लांच किया तथा माइक्रोसॉफ्ट ने अपने सर्च इंजन को तथाकथित एडवांस्ड करके "बिंग" बनाके पेश किया अभी कुछ दिन पहले से गूगल भी अपने सर्च इंजन में बदलाव करके उसे "कैफीन" नाम से पेश करने की तैयारी कर रहा है अब आगे बात आई गूगल के अपने ऑपरेटिंग सिस्टम लॉन्च करने की ,जो कि उनके अनुसार 2010 तक आ जायेगा तो गेंद आई माइक्रोसॉफ्ट के पाले में तो माइक्रोसॉफ्ट भी एक ऐसे वेब-ब्राउजर को विकिसित करने पर काम कर रहा जो कि एक ऑपरेटिंग सिस्टम की तरह काम करेगा माइक्रोसॉफ्ट ने इसे "Gazelle" नाम दिया है

"Gazelle" के बारे में ,माइक्रोसॉफ्ट की रिसर्च टीम के अनुसार Gazelle एक ऑपरेटिंग सिस्टम की तरह काम करेगा जोकि वेब पर आने वाले असुरिक्षित स्क्रिप्ट,कोड, पोप्स-अप,DHTML Pages,पर नज़र रखेगा जिससे की आपका पीसी पूर्णतः सुरिक्षित रहें इसके साथ ही इसमे कई सारे फीचर्स मौजूद है फिलहाल अभी ये रिसर्च के दौर है सिर्फ रिसर्च, अभी कोई Beta या Trail वर्जन नहीं आया है

"Gazelle" से सम्बंधित एक PDF फाइल को आप यहाँ से पढ़ सकते है, जोकि माइक्रोसॉफ्ट की रिसर्च टीम ने जारी किया गया इसमे सारा कुछ बताया गया है
वैसे इस प्रतिस्पर्धा से कुछ भी हो ,लेकिन फायदा हम लोगों को ही हो रहा है

2 comments:

Post a Comment